आपका वर्तमान स्थान है:रैट पिंग शी गुई नेटवर्क > Jiangmen

Shashi Tharoor: मोदी सरकार ने बदला राजपथ का नाम, शशि थरूर ने इस अंदाज में ली चुटकी...

रैट पिंग शी गुई नेटवर्क2022-10-02 09:51:15【Jiangmen】2लोग देख रहे हैं

परिचयमोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीतिरुपति बालाजी मंदिर: भगवान वेंकटेश्वर को भक्त ने दान किए सोने के हाथ, कीमत जान उड़ जाएंगे होश******devotee to donate 6 kilo gold jewelry worth over 2.25 crore in Tirupati Balaji temple चढ़ाना चढ़ाने को लेकर एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। यहां शनिवार को भगवान वेंकटेश्वर को एक भक्त ने सोने के दो नए 'अभया हस्तम' और 'कति हस्तम' (हाथ में पहनने के जेवर) चढ़ाए,न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिकइनकी कीमत 2.25 करोड़ रुपएहै। 'अभय हस्तम' और काति हस्तम' का वजन 6-6 किलो है। बता दें कि 'अभया हस्तम' और 'कति हस्तम' एक तरह के सोने के जेवर होते हैं जो भगवान के हाथ में पहनाए जाते हैं।बताया जा रहा है कि इन हाथों को सुबह की पूजा के वक्त भगवान को अर्पित किया गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तमिलनाडु के थेनी जिले के कपड़ा कारोबारी थंगा दुराई ने यह जेवर भगवान को अर्पित किए हैं। कहा जा रहा है कि थंगा दुराई की मन्नत पूरी होने पर उन्होंने ये फैसला लिया है। बता दें कि की काफी मान्यता है और हर साल बड़ी संख्या में लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं।पत्रकारों से बात करते हुए थंगा दुराई ने बताया कि मैं अपने बचपन से भगवान वेंकटेश्वर के इस पावन धाम में आता हूं। कुछ साल पहले मैं बीमार पड़ गया था और मौत के करीब पहुंच गया था। मेरे बचने की थोड़ी ही उम्मीद बाकी रह गई थी लेकिन जब भगवान वेंकटेश्वर से प्रार्थना की और कई सारे चढ़ावा चढ़ाने की मन्नत मांगी तो मुझे जीवन दान मिल गया।एक अनुमान के मुताबिकदेश का सबसे धनी मंदिर माने जाने वाले आन्ध्र प्रदेश के तिरुमाला में स्थित तिरुपति बालाजी में ही लगभग सात टन सोना और 30 टन चांदी जमा है। इस में श्रद्धालु दिन-प्रतिदिन वृद्धि ही करते जा रहे हैं।गौरतलब है कि मंदिरों में पड़ा सोना देश की में इस्तेमाल नहीं हो पाता है। इसीलिए सरकार इस जमा सोने को अर्थव्यवस्था में वापस लाने के लिए अब प्रोत्साहन दे रही है।

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीतिरुपति बालाजी मंदिर: भगवान वेंकटेश्वर को भक्त ने दान किए सोने के हाथ, कीमत जान उड़ जाएंगे होश******devotee to donate 6 kilo gold jewelry worth over 2.25 crore in Tirupati Balaji temple चढ़ाना चढ़ाने को लेकर एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। यहां शनिवार को भगवान वेंकटेश्वर को एक भक्त ने सोने के दो नए 'अभया हस्तम' और 'कति हस्तम' (हाथ में पहनने के जेवर) चढ़ाए,न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिकइनकी कीमत 2.25 करोड़ रुपएहै। 'अभय हस्तम' और काति हस्तम' का वजन 6-6 किलो है। बता दें कि 'अभया हस्तम' और 'कति हस्तम' एक तरह के सोने के जेवर होते हैं जो भगवान के हाथ में पहनाए जाते हैं।बताया जा रहा है कि इन हाथों को सुबह की पूजा के वक्त भगवान को अर्पित किया गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तमिलनाडु के थेनी जिले के कपड़ा कारोबारी थंगा दुराई ने यह जेवर भगवान को अर्पित किए हैं। कहा जा रहा है कि थंगा दुराई की मन्नत पूरी होने पर उन्होंने ये फैसला लिया है। बता दें कि की काफी मान्यता है और हर साल बड़ी संख्या में लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं।पत्रकारों से बात करते हुए थंगा दुराई ने बताया कि मैं अपने बचपन से भगवान वेंकटेश्वर के इस पावन धाम में आता हूं। कुछ साल पहले मैं बीमार पड़ गया था और मौत के करीब पहुंच गया था। मेरे बचने की थोड़ी ही उम्मीद बाकी रह गई थी लेकिन जब भगवान वेंकटेश्वर से प्रार्थना की और कई सारे चढ़ावा चढ़ाने की मन्नत मांगी तो मुझे जीवन दान मिल गया।एक अनुमान के मुताबिकदेश का सबसे धनी मंदिर माने जाने वाले आन्ध्र प्रदेश के तिरुमाला में स्थित तिरुपति बालाजी में ही लगभग सात टन सोना और 30 टन चांदी जमा है। इस में श्रद्धालु दिन-प्रतिदिन वृद्धि ही करते जा रहे हैं।गौरतलब है कि मंदिरों में पड़ा सोना देश की में इस्तेमाल नहीं हो पाता है। इसीलिए सरकार इस जमा सोने को अर्थव्यवस्था में वापस लाने के लिए अब प्रोत्साहन दे रही है।

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीMining Mafia News: रजस्थान के कांग्रेस विधायक ने अपनी ही सरकार के खान मंत्री पर लगाए गंभीर आरोप******Highlightsराजस्थान में कांग्रेस के एक विधायक ने अपनी ही सरकार के खनन मंत्री पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सूबे के पूर्व मंत्री और सांगोद से कांग्रेस विधायक भरत सिंह ने अवैध खनन के मुद्दे पर मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोलकर उन्हें तत्काल बर्खास्त करने की मांग की है। सिंह ने साथ ही अपनी याचिका पर सुनवाई न होने पर आत्मदाह की धमकी दी है। बता दें कि राजस्थान के भरतपुर जिले में बुधवार को एक साधु द्वारा आत्मदाह करने के प्रयास के बाद से सियासत तेज हो गई है।भरतपुर के पासोपा गांव में के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के दौरान साधु ने खुद को आग लगा ली। सिंह ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर कहा है कि यदि प्रदेश में खनन माफिया को काबू में करना है तो खान मंत्री को तत्काल बर्खास्त किया जाए। उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने आपको कई पत्र लिखे हैं। यदि अवैध खनन को रोकने का एकमात्र उपाय भरतपुर के साधु का मार्ग है, तो कृपया मेरे इस प्रभावी मार्ग का अनुसरण करने और आपसे बात करने की प्रतीक्षा करें।’सिंह ने कहा, ‘मैं आपका ध्यान भरतपुर के पहाड़ों में खनन के खिलाफ 551 दिनों तक धरने पर बैठे साधुओं और खुद को आग लगाने वाले साधु की ओर दिलाना चाहता हूं। अवैध खनन का सीधा संबंध गुंडागर्दी से है और यह सरकार के संरक्षण के बिना संभव नहीं है। साधु की आत्महत्या की कोशिश के बाद आपने प्रेस कांफ्रेंस कर जिला कलेक्टर व जिला प्रशासन को खनन माफिया की पहचान कर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। आपकी प्रेस कांफ्रेंस में राज्य के खान मंत्री आपके साथ थे।’प्रमोद जैन भाया राजस्थान सरकार में खान मंत्री हैं। सिंह ने कहा कि प्रदेश के सबसे बड़े खनन माफिया खान मंत्री हैं और उनके गृह जिले में अवैध खनन का कीर्तिमान स्थापित किया गया है। बारां जिले में मंत्री द्वारा कलेक्टर, संभागीय वन अधिकारी और अन्य उच्च पदों पर भ्रष्ट अधिकारियों का चयन किया जाता है। बारां जिले में अवैध खनन से कई लोगों की मौत हो रही है।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीIND vs SA: केएल राहुल की चोट कितनी गंभीर? भारतीय क्रिकेटर ने टीम से बाहर होने के बाद दी प्रतिक्रिया******Highlightsभारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज केएल राहुल को साउथ अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी20 सीरीज से बाहर होना पड़ा है। इस सीरीज के लिए उन्हें टीम की कप्तानी सौंपी गई थी। लेकिन अंतिम समय में दाईं ग्रोइन की चोट के कारण उन्हें टीम से पूरी सीरीज के लिए बाहर होना पड़ा। इसके बाद पहली बार भारतीय क्रिकेटर ने प्रतिक्रिया दी और घरेलू सरजमीं पर पांच मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज में भारत की अगुआई नहीं कर पाने पर निराशा भी जताई।गौरतलब है कि मंगलवार को केएल राहुल की दाईं ग्रोइन में ट्रेनिंग सत्र के दौरान चोट लगी थी। इसके बाद बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस से कुछ वक्त पहले बीसीसीआई ने ट्वीट किया और उनके पूरी सीरीज से बाहर होने की जानकारी दी। साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टी20 मैच की पूर्व संध्या पर विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को टीम इंडिया का कप्तान नियुक्त किया गया। राहुल ने पंत सहित पूरी भारतीय टीम को भी धन्यवाद कहा है।केएल राहुल ने बुधवार रात ट्वीट करके कहा, ‘‘इसे स्वीकार करना मुश्किल है लेकिन मैंने एक और चुनौती की शुरुआत की है। घरेलू सरजमीं पर पहली बार टीम की अगुआई नहीं कर पाने से निराश हूं लेकिन बाहर से साथी खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करूंगा। सभी का मेरा समर्थन के लिए तहेदिल से धन्यवाद। ऋषभ और पूरी टीम को सीरीज के लिए शुभकामनाएं। जल्द ही मिलेंगे।’’ आपको बता दें कि नियमित कप्तान रोहित शर्मा को आराम देने पर राहुल को टीम की कमान सौंपी गई थी।केएल राहुल हाल ही में संपन्न हुए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2022) के दौरान अच्छी फॉर्म में थे। लेकिन अब चोट के बाद उन्हें बेंगलुरू स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) जाना होगा जहां चिकित्सा टीम उनकी चोट का आकलन करेगी और उपचार पर फैसला करेगी। राहुल के अलावा बाएं हाथ के स्पिनर कुलदीप यादव भी मंगलवार को नेट पर गेंदबाजी करते हुए दाएं हाथ में चोट लगने के कारण साउथ अफ्रीका सीरीज में नहीं खेल पाएंगे। राहुल की इस चोट के बाद आगामी इंग्लैंड दौरे पर भी उनके खेलने पर संशय बन गया है। हालांकि उनकी चोट कितनी गंभीर है अभी इस पर रिपोर्ट आना बाकी है।

Shashi Tharoor: मोदी सरकार ने बदला राजपथ का नाम, शशि थरूर ने इस अंदाज में ली चुटकी...

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीअमेरिका के कई अस्पताल कोविड-19 के इलाज में कर रहे हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन का इस्तेमाल: रिपोर्ट****** अमेरिका में कई अस्पताल कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज में मलेरिया के उपचार में काम आने वाली दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन का इस्तेमाल कर रहे हैं। मीडिया में आई एक रिपोर्ट में यह जानकारी मिली है। चिकित्सा पत्रिका ‘एमडेज’ में शुक्रवार को प्रकाशित एक खबर के अनुसार, मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन (एचसीक्यू) और तोसीलिजुमैब दवा से येल न्यू हेवन हेल्थ सिस्टम के अस्पतालों में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज हो रहा है। भारतीय-अमेरिकी हृदयरोग विशेषज्ञ निहार देसाई ने पत्रिका को बताया, ‘‘यह सस्ती दवा है, इसका दशकों से इस्तेमाल किया जाता रहा है और लोग इससे आराम महसूस कर रहे हैं।’’उन्होंने कहा, ‘‘हम अपनी ओर से भरसक प्रयास कर रहे हैं। उम्मीद करते हैं कि हमें फिर से वैश्विक महामारी जैसी किसी चीज का सामना कभी न करना पड़े।’’ उनके अस्पताल में लगभग आधे मरीज कोविड-19 के हैं। इस बीच अमेरिकी खाद्य एवं प्रशासन औषधि (एफडीए) ने कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए वायरल रोधी दवा रेमडेसिविर के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। जिन लोगों को रेमेडेसिविर दी गई उन्हें औसतन 11 दिन में अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के एंथनी फॉसी ने बताया कि यह दवा गंभीर रूप से बीमार कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज में कारगर होगी। अभी इस दवा का इस्तेमाल मामूली रूप से बीमार मरीजों पर नहीं किया गया है। एफडीए ने कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए सबसे पहले हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन दवा के इस्तेमाल को मंजूरी दी थी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस दवा का इस्तेमाल करने की पैरवी करते रहे हैं।खबरों के मुताबिक इस दवा से न्यूयॉर्क तथा कई अन्य स्थानों पर मरीजों का इलाज हुआ है। खबरों के अनुसार मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने की शुरुआती चरण के दौरान प्रभावी पाई गई है लेकिन हृदयरोगियों के लिए यह घातक है। ट्रंप के आग्रह पर भारत ने अमेरिका को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन की पांच करोड़ गोलियां भेजी थीं।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीAyodhya Illegal Land Deal: अयोध्या जमीन घोटाले में बीजेपी विधायक और मेयर शामिल, 40 लोगों के नाम की लिस्ट जारी******Highlights अयोध्या विकास प्राधिकरण ने अपने क्षेत्र में अवैध रूप से जमीन बेचने और उन पर निर्माण कराने वाले 40 लोगों की लिस्ट जारी की है। इनमें अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय और भारतीय जनता पार्टी (BJP) विधायक वेद प्रकाश गुप्ता भी शामिल हैं। प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह ने मीडिया को बताया कि प्राधिकरण की ओर शनिवार रात प्राधिकरण क्षेत्र में अवैध रूप से जमीन की खरीद-फरोख्त और निर्माण कार्य कराने वाले 40 लोगों की एक लिस्ट जारी की गई। उन्होंने कहा कि इस लिस्ट में शामिल इन सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।प्राधिकरण की ओर से जारी लिस्ट में बीजेपी विधायक वेद प्रकाश गुप्ता और अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के नाम भी शामिल हैं। गुप्ता और उपाध्याय ने इसके जवाब में आरोप लगाया कि यह एक साजिश है और उन्हें गलत तरीके से इस मामले में फंसाया गया है। लिस्ट में मिल्कीपुर क्षेत्र से पूर्व बीजेपी विधायक गोरखनाथ बाबा का नाम भी शामिल है। गौरतलब है कि इस साल के शुरू में हुए विधानसभा चुनाव से पहले अयोध्या में गलत तरीके से जमीन की खरीद-फरोख्त किए जाने का मामला गर्माया था। क्षेत्रीय सांसद लल्लू सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर इस मामले की विशेष अनुसंधान दल (SIT) से जांच कराने की मांग की थी।अयोध्या में जमीन की अवैध खरीद-फरोख्त का जब मामला गर्माया था तब यूपी के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक ट्वीट कर इस मामले पर कहा था, "हमने पहले भी कहा है, फिर दोहरा रहे हैं… भाजपा के भ्रष्टाचारी कम-से-कम अयोध्या को तो छोड़ दें।" इससे पहले सपा ने अपने आधिकारिक हैंडल से किए गए ट्वीट में कहा था,"अयोध्या में भाजपाइयों का पाप! भाजपा के महापौर, नगर विधायक और पूर्व विधायक भू-माफियाओं के साथ मिलकर बसा रहे अवैध कॉलोनियां। जिम्मेदार विभागों से सांठगांठ कर अबतक 30 अवैध कॉलोनियां बसाकर सरकार को अरबों रुपये के राजस्व का लगाया चूना। मामले की हो जांच। दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई।"गौरतलब है कि कुछ महीने पहले इस मामले को उठाने वाले आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने भी अयोध्या विकास प्राधिकरण द्वारा लिस्ट जारी किए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए आरोप लगाया कि भाजपा के लोगों की आस्था भगवान श्रीराम में नहीं, बल्कि भ्रष्टाचार में है। सिंह ने एक बयान में कहा कि प्रभु श्री राम के नाम पर जमीन के घोटाले का खुलासा सबसे पहले उन्होंने किया था और उस वक्त भी अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय का नाम आया था। उन्होंने कहा कि आज जमीन का घोटाला करने वाले लोगों की जो लिस्ट जारी हुई है, उसमें अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय, अयोध्या नगर के भाजपा विधायक वेद प्रकाश गुप्ता और पूर्व विधायक गोरखनाथ बाबा का भी नाम शामिल है।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीMukhtar Abbas Naqvi: क्या मुख्तार अब्बास नकवी बनेंगे अगले उपराष्ट्रपति? मंत्रीपद से इस्तीफे के बाद तेज हुई चर्चा******Highlightsमुख्तार अब्बास नकवी ने केंद्रीय मंत्रीपद से इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद से ही उनके उपराष्ट्रपति बनने की चर्चाएं तेज हो गई हैं। हालांकि उपराष्ट्रपति पद को लेकर केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का नाम भी सुर्खियों में है। अब देखना यह है कि नकवी को कौनसी जिम्मेदारी मिलने वाली है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने केंद्रीय मंत्रीमंडल से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने का बाद नकवी प्रधानमंत्री मोदी से मिलने पहुंचे। बतौर राज्यसभा सांसद मुख्तार अब्बास नकवी का कार्यकाल आज 7 जुलाई को खत्म हो रहा है। चर्चा यह भी है कि नकवी को बीजेपी संगठन में कोई नई जिम्मेदारी भी दी जा सकती है।बीजेपी नकवी को दे सकती हो कोई बड़ी भूमिकामुख्तार अब्बास नकवी मोदी कैबिनेट में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री थे। इसके अलावा वह राज्यसभा में उपनेता भी थे। इस्तीफे से पहले मुख्तार अब्बास नकवी ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात की थी। इस मुलाकात में क्या चर्चा हुई, इस पर बीजेपी की ओर से कुछ नहीं बताया गया है, लेकिन कहा जा रहा है कि नकवी बहुत जल्द किसी नई और बड़ी भूमिका में नजर आ सकते हैं। उपराष्ट्रपति पद के लिए भी उनका नाम आगे किया जा सकता है। बता दें कि नकवी 2010 से 2016 तक यूपी से राज्यसभा सदस्य रहे। 2016 में वे झारखंड से राज्यसभा भेजे गए थे।राज्यसभा के लिए नहीं बनाए गए थे उम्मीदवारनकवी को भाजपा (BJP) ने पिछले दिनों हुए राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव में कहीं से भी उम्मीदवार नहीं बनाया था। फिलहाल, नकवी के भविष्य को लेकर कई तरह की अटकलें चल रही हैं। माना जा रहा है कि नकवी का नाम उपराष्ट्रपति से लेकर कई अन्य राज्यों के गवर्नर या एलजी के तौर पर चल रहा है। बता दें कि उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन शुरू हो चुका है, संभावना है कि एनडीए जल्दी ही अपने उम्मीदवार के नाम का ऐलान करेगा।पीएम मोदी ने बैठक मेंकी थी सराहनासूत्रों के अनुसार कल बुधवार को हुई केंद्रीय मंत्रीमंडल की बैठक में पीएम मोदी ने देश और लोगों की सेवा के लिए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) और राम चंद्र प्रसाद सिंह (RCP Singh) के योगदान की सराहना की थी।उपराष्ट्रपति की रेस में इन नामों पर चर्चामीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्तार अब्बास नकवी के अलावा केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, पूर्व केंद्रीय मंत्री नजमा हेपतुल्ला और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी उपराष्ट्रपति पद की रेस में हैं। नकवी का राज्यसभा में कार्यकाल आज समाप्त हो रहा है। नकवी और राजनाथ सिंह ये दोनों हाल के समय में ऐसे मंत्री रहे, जो अटलजी की सरकार में भी थे।वैसे देखा जाए तो हाल के दशक में हामिद अंसारी भी उपरराष्ट्रपति रहे, जो अल्पसंख्यक समुदाय से थे। मुख्तार अब्बास नकवी 2010 से 2016 तक यूपी से राज्यसभा सदस्य रहे। 2016 में वह झारखंड से राज्यसभा भेजे गए। नकवी पहली बार 1998 में लोकसभा का चुनाव जीते और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाए गए थे।नेजमा हेपतुल्ला के इस्तीफे के बाद बने थे अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रीइसके बाद 26 मई 2014 में वह मोदी सरकार में अल्पसंख्यक मामलों और संसदीय मामलों के राज्य मंत्री बने। 12 जुलाई 2016 को नजमा हेपतुल्ला के इस्तीफे के बाद उन्हें अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार मिला। वह 30 मई 2019 को मोदी कैबिनेट में शामिल हुए और अल्पसंख्यक मामलों का मंत्रालय बना रहा।

Shashi Tharoor: मोदी सरकार ने बदला राजपथ का नाम, शशि थरूर ने इस अंदाज में ली चुटकी...

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीMaharashtra Politics: शिंदे सरकार ने पलटा पिछली MVA सरकार का एक और फैसला, MLC के लिए प्रस्तावित 12 नाम लिए वापस, राजभवन भेजी जाएगी नई सूची******Highlightsमहाराष्ट्र की शिंदे सरकार ने पिछली उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली MVA सरकार का एक और फैसला पलट दिया है। एमवीए सरकार द्वारा 2020 में भेजे गए 12 MLC नामांकनों की सूची को वापस ले लिया है और राज्यपाल ने इसके लिए मंजूरी भी दे दी है। शिंदे सरकार अब राजभवन को नए नामों की सूची भेजेगी।बता दें कि पिछली MVA सरकार ने उन 12 नामों की लिस्ट दी थी जिन्हें राज्यपाल कोटे के तहत महाराष्ट्र विधान परिषद में नामित किया जाना था, हालांकि राज्यपाल ने दो साल से अधिक समय पहले मिली इस सूची पर अब तक कोई फैसला नहीं लिया था।उद्धव ठाकरे की ओर से राजभवन को भेजी गई सूची में शिवसेना कोटे से अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर, विजय करंजकर, नितिन बानुगड़े पाटिल और चंद्रकांत रघुवंशी, एनसीपी कोटे से एकनाथ खडसे, राजू शेट्टी, यशपाल भिंगे व गायक आनंद शिंदे और कांग्रेस कोटे से रजनीताई पाटिल, सचिन सावंत, अनिरुद्ध वांकर, मुजफ्फर हुसैन के नाम शामिल थे।राज्य के सीएम एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को एक पत्र में लिखा है। पत्र में सीएम एकनाथ शिंदें ने राज्यपाल को कहा कि वह पुरानी सरकार द्वारा दिए गए 12 एमएलसी के नाम वापस लेना चाहती है जो पिछली अघाड़ी सरकार ने दिए थे। बता दें कि कला, साहित्य, सामाजिक कार्य आदि के क्षेत्र के लोग एमएलसी के रूप में मनोनीत होने के पात्र हैं। एमवीए द्वारा सुझाए गए 12 नामों में अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर का नाम भी शामिल था। मातोंडकर कांग्रेस छोड़ने के बाद शिवसेना में शामिल हो गई थीं।सूत्रों के अनुसार अब एमएलसी की सीटों का बंटवारा शिंदे गुट और भाजपा के बीच होगा। भाजपा को एमएलसी की 9 सीटें दी जा सकती हैं जबकि शिंदे गुट के खाते में तीन सीटें जा सकती हैं। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि शिंदे गुट की ओर से चार सीटों का दावा किया जा रहा है।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीबीजेपी नेता नितेश राणे का सनसनीखेज़ दावा, कहा-मुंबई में हैं Coronavirus के 15 लाख मामले, छिपा रही है BMC******बीजेपी नेता नितेश राणे ने सनसनीखेज दावा किया है। उन्होंने कहा है कि मुंबई में कोरोना वायरस के 15 लाख केस हैं लेकिन बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) इसे छिपा रही है। नितेश राणे के मुताबिक, आज नहीं तो कल सच सामने आ जाएगा। नितेश राणे ने ट्वीट कर लिखा कि मुंबई में 15 लाख मामले हैं। क्या कोई पुष्टि कर सकता है कि यह सच नहीं है? और साबित कीजिए!! मौन रहने से कुछ नहीं होगा क्योंकि बीएमसी में यही चर्चा है! क्यों छिपाते हैं क्योंकि एक दिन सच सामने आ जाएगा।वहीं बीएमसी ने बताया कि मुंबई में सोमवार को से संक्रमण के 1,185 नए मामले आए हैं, जबकि 23 और लोगों की मौत हुई है। महानगर में अभी तक संक्रमण से 757 लोगों की मौत हुई है, जबकि कुल 21,152 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं। 1,185 नए मामलों में से 300 मामले ऐसे हैं जिनकी जांच 12 से 16 मई के बीच निजी प्रयोगशालाओं में हुई थी।सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, 504 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दी गई। इसके साथ ही महानगर में अभी तक ठीक हुए मरीजों की संख्या 5,516 हो गई है। उसमें कहा गया है, ‘‘कुल 804 नए संदिग्ध मामलों में लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।’’बीएमसी ने बताया कि मुंबई की धारावी झुग्गी बस्ती में आज कोविड-19 के 85 नए मामले आने के साथ ही संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,327 हो गई। एक अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 से हालांकि धारावी में आज कोई मौत नहीं हुई है।

Shashi Tharoor: मोदी सरकार ने बदला राजपथ का नाम, शशि थरूर ने इस अंदाज में ली चुटकी...

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीBJP कार्यकर्ताओं ने ‘हुआ तो हुआ’ टिप्पणी के लिए सैम पित्रोदा का पुतला फूंका****** भाजपा कार्यकर्ताओं ने 1984 के सिख विरोधी दंगों के बारे में कांग्रेस नेता की टिप्पणी के खिलाफ शनिवार को प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने पित्रोदा का पुतला भी फूंका।कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी और इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा ने बृहस्पतिवार को हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में एक पत्रकार द्वारा दंगों के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा था, ‘हुआ तो हुआ।’ उन्होंने बाद में टिप्पणी के लिए माफी मांग ली थी।भाजपा नेता सरदार एस पी सिंह के नेतृत्व में सिख समुदाय के सदस्यों ने यहां राजनगर कॉलोनी में ‘हिंट चौक’ पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिख विरोधी दंगे हुए और समुदाय के कई सदस्य मारे गए।उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेताओं ने ‘‘सिखों के खिलाफ बेकाबू भीड़ को उकसाया था।’’

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीबीएस-तीन वाहनों पर प्रतिबंध से कर्मशियल व्हीकल्स और दोपहिया कंपनियों को भारी नुकसान****** सुर्पीम कोर्ट द्वारा एक अप्रैल से भारत चरण-तीन वाहनों पर प्रतिबंध के आदेश के बाद वाणिज्यिक वाहन कंपनियों और दोपहिया विनिर्माताओं द्वारा अपना स्टॉक निकालने के लिए भारी रियायतों की पेशकश की गई है। इससे जहां वाणिज्यिक वाहन कंपनियों को 2,500 करोड़ रुपए का नुकसान होने का अनुमान है। वहीं दोपहिया उद्योग को भी करीब 600 करोड़ रुपए का घाटा होने का अनुमान है। शोध कंपनी क्रिसिल की रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है।क्रिसिल के अनुसार जिन कंपनियों ने 31 मार्च तक बीएस-तीन वाणिज्यिक वाहनों का स्टॉक निकाला है उन्हें रियायतों और प्रोत्साहनों पर 1,200 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। वहीं ऐसा स्टॉक जो बिक नहीं पाया है उस पर कंपनियों को 1,300 करोड़ रुपए का नुकसान होने का अनुमान है।ट्रक कंपनियों अशोक लेलैंड और टाटा मोटर्स के कर पूर्व मार्जिन पर एकल आधार पर उनके राजस्व का 2.5 प्रतिशत असर पड़ने का अनुमान है। हालांकि, रिपोर्ट में कहा गया है कि इस नुकसान का प्रभाव 2016-17 और 2017-18 दोनों वित्त वर्ष में पड़ेगा। इसकी वजह है कि बिना बिके स्टॉक को डीलरों से वापस मंगाना होगा और उसके बाद उन पर काम करना होगा।हाल में संपन्न वित्त वर्ष में बीएस-तीन वाहनों पर छूट से कंपनियों के कर पूर्व मुनाफे पर एक प्रतिशत का असर पड़ा है। इस मामले पर फैसले के दिन वाणिज्यिक वाहन उद्योग के पास बीएस-तीन वाहनों की 97,000 इकाइयां थीं जो मूल्य के हिसाब से 11,600 करोड़ रुपए बैठती हैं।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीबिहार चुनाव: कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र, 'बदलाव पत्र 2020' दिया नाम****** कांग्रेस पार्टी ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अपना चुनावी घोषणा पत्र (Election Manifesto)जारी कर दिया है। बुधवार सुबह पार्टी महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने पटना में पार्टी का घोषणापत्र जारी करने की घोषणा की। घोषणापत्र जारी करते समय रणदीप सुरजेवाला के साथ पार्टी के बिहार प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल, पार्टी नेता राज बब्बर भी मौजूद थे। कांग्रेस पार्टी ने बिहार चुनाव के लिए अपने घोषणा पत्र को 'बदलाव पत्र 2020' नाम दिया है।चुनाव घोषणा पत्र में कांग्रेस पार्टी ने किसानों की कर्जमाफी, बिजली बिल माफी और सिंचाई सुविधाओं को बढ़ाने का वादा किया है। कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में यह भी कहा है कि अगर वे सत्ता में आते हैं तो जिस तरह से पंजाब सरकार केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ बिल लेकर आई है उसी तरह बिहार में भी बिल लाया जाएगा। पार्टी नेता शक्तिसिंह गोहिल ने यह जानकारी दी है।बिहार विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल तथा कुछ वाम दलों के बीच गठबंधन है और इस गठबंधन को महागठबंधन का नाम दिया गया है। गठबंधन में कांग्रेस पार्टी 70 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि वाम दलों को 29 सीटों दी गई हैं। 144 सीटों पर राष्ट्रीय जनता दल के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। गठबंधन के सहयोगी दल राष्ट्रीय जनता दल ने पहले ही अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया है और 10 लाख लोगों को नौकरी का वादा किया है।

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीLiger Box Office Collection Day 4: बॉक्स ऑफिस पर ठंडी पड़ी 'लाइगर', चौथे दिन कमाए बस इतने करोड़******Highlights: आमिर खान (Aamir Khan) की 'लाल सिंह चड्ढा' (Laal Singh Chaddha) और अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की 'रक्षा बंधन' (Raksha Bandhan) के बाद अब विजय देवरकोंडा (Vijay Devarakonda) की फिल्म 'लाइगर' (Liger) भी ठंडे वस्ते में जाने की तैयारी कर रही है। बॉक्स ऑफिस पर इस वक्त कोई भी फिल्म नहीं चल रही है। बड़े-बड़े सितारों की उम्मीदों पर बस पानी ही फिर रहा है।साउथ एक्टर विजय देवरकोंडा और अनन्या पांडे (Ananya Panday) की फिल्म लाइगर सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। इस फिल्म को देखने के लिए अब ऑडियंस तक नहीं पहुंच रही है। इस फिल्म से विजय ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है। विजय का साउथ में बोलबाला है। लेकिन लगता है उनके लिए बॉलीवुड कुछ खास अच्छा साबित नहीं हुआ। फिल्म ने पहले दिन अच्छी कमाई की थी। लेकिन दूसरे ही फिल्म की कमाई आधी हो गई। हालांकि तीसरे दिन कमाई के आकड़ों में फिर से बढ़ोतरी देखने को मिली। लेकिन चौथे दिन के आकड़ों ने फिर से मेकर्स को निराश कर दिया।'लाइगर' के रिलीज के पहले दिन15.95 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया था। दूसरे दिन फिल्म ने 7.7 करोड़ रुपये कमाए। तीसरे दिन फिल्म की कमाई घटकर 6.95 करोड़ रुपये रह गई तो वहीं रविवार को फिल्म ने 5.50 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया।पांच भाषाओं के साथ मेकर्स ने 'लाइगर' को देश भर के लगभग 2,500 स्क्रीन पर रिलीज किया गया है। लेकिन कमाई के मामले में यह फिल्म फुस्स साबित होती दिख रही है। फिल्म की ओपनिंग बेशक शानदार रही। लेकिन दूसरे दिन से लेकर अभी तक के हालात कुछ खास नहीं है। बॉक्स ऑफिस पर हर फिल्म के लिए पहला वीकएंड काफी खास होता है लेकिन 'लाइगर' शनिवार और रविवार दोनों दिन ही दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींचने में नाकामयाब रही।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीFord 22 जुलाई को भारत में लॉन्च करेगी Figo ऑटोमैटिक, कंपनी ने जारी की पहली झलक******फोर्ड 22 जुलाई को भारत में लॉन्च करेगी फीगो ऑटोमैटिक, कंपनी ने जारी की पहली झलकभारतीय बाजार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए अमेरिकी कंपनी का नया ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन वेरिएंट लॉन्च करने जा रही है। कंपनी 22 जुलाई को अपनी ऑटोमैटिक फीगो को लॉन्च करेगी। इससे पहले कंपनी ने इस कार का एक टीजर पेश किया है। जिसमें एक लाल कपड़े के पीछे से फीगो ऑटोमैटिक दिखाई दे रही है। माना जा रहा है कि कंपनी कुछ ए​क्टीरियर और इंटीरियर बदलाव भी पेश करेगी।अभी कंपनी ने इस बारे में ज्यादा खुलासा नहीं किया है। लेकिन माना जा रहा है कि फोर्ड इंडिया फीगो ऑटोमैटिक के साथ 6-स्पीड ट्रांसमिशन देगी जो फोर्ड एकोस्पोर्ट सबकॉम्पैक्ट एसयूवी के साथ दिया जाता है। इस मॉडल के साथ 1.5-लीटर पेट्रोल इंजन को यह ऑटोमैटिक गियरबॉक्स दिया गया है। फोर्ड फीगो मैन्युअल की मौजूदा शुरुआती एक्सशोरूम कीमत रु 5.82 लाख है और अनुमान है कि ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन हैचबैक के बीच वाले वेरिएंट में दिया जाएगाऑटो गियरबॉक्स के अलावा फोर्ड फीगो संभवतः किसी बदलाव के साथ नहीं आएगी, इसके साथ पहले जैसा 1.2-लीटर नेचुरली ऐस्पिरेटेड पेट्रोल इंजन मिलेगा जो 95 बीएचपी ताकत और 119 एनएम पीक टॉर्क बनाता है। फिलहाल यह इंजन 5-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स के साथ आ रहा है।सेगमेंट में मुकाबले पर नज़र डालें तो मारुति सुज़ुकी स्विफ्ट AMT की एक्सशोरूम कीमत 6.86 लाख है, वहीं हुंडई ग्रैंड i10 निऑस AMT की एक्सशोरूम कीमत रु 6.62 लाख है। फोक्सवैगन पोलो AMT से भी कार का मुकाबला होता आया है जिसकी एक्सशोरूम कीमत 8.51 लाख है।

मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीUP News: बुर्का पहनकर प्रेमिका से मिलने पहुंचा युवक, बदमाश समझकर गांव वालों ने किया पुलिस के हवाले******Highlightsउत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में बुर्का पहनकर अपनी प्रेमिका से मिलने गए एक युवक को ग्रामीणों ने बदमाश समझकर पकड़ लिया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) संजीव बाजपेई ने बृहस्पतिवार को बताया कि सिधौली थाना क्षेत्र के महमदपुर गांव में सैफ अली (25) नामक युवक अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए बुर्का पहनकर पहुंच गया। ग्रामीणों को संदेह हुआ और उन्होंने उसे पकड़ कर बुर्का हटाने को कहा। बुर्का हटाने पर युवक को ग्रामीणों ने पहचान लिया।पुलिस हिरासत में प्रेमीउन्होंने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने पहुंचकर युवक को अपनी हिरासत में ले लिया है। किसी ने इस घटना का वीडियो बना लिया जो सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है। बाजपेई ने बताया कि पकड़े गए युवक के इसी गांव की रहने वाली एक युवती से चार वर्षों से प्रेम संबंध हैं। उन्होंने बताया कि युवक बाहर नौकरी करने जा रहा था इसीलिए वह अपनी प्रेमिका से मिलना चाहता था।प्रेमिका ने कहा था भेष बदलकर मिलने आओप्रेमिका ने फोन पर उससे कहा था कि गांव के लोग उसे पहचानते हैं इसलिए वह भेष बदलकर आए। उन्होंने बताया कि पकड़े गए युवक के खिलाफ शांति भंग करने संबंधी धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है।मोदीसरकारनेबदलाराजपथकानामशशिथरूरनेइसअंदाजमेंलीचुटकीकंगना रनौत को सुप्रीम कोर्ट ने दी राहत, सोशल मीडिया पोस्ट पर सेंसर मांग वाली याचिका हुई खारिज******Highlightsसुप्रीम कोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेत्री के सोशल मीडिया पोस्टके खिलाफ दायक याचिका को खारिज कर दिया है। हालांकि, अदालत मुंबई पुलिस को मामले में अपनी जांच जारी रखने की अनुमति दे रही है। यह याचिका एक वकील के द्वारा कंगना रनौत के खिलाफ दायर की गई थी। यह याचिका तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे सिख समुदाय के खिलाफ पोस्ट को लेकर थी।याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से अपनी याचिका में अभिनेत्री द्वारा किए गए पोस्ट पर सेंसरशिप की मांग की थी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस पर सुनवाई करने से इनकार दिया। इसके साथ ही कहा आर्टिकल 32 के तहत इस मुद्दे में कोर्ट सुनवाई नहीं कर सकती हैं। इसके लिए कानून में कई प्रावधान है। हालांकि इस मामले में मुंबई पुलिस को जांच जारी करने का आदेश दिया है।बता दें, अधिवक्ता चरणजीत सिंह चंद्रपाल द्वारा दायर याचिका में किसानों के विरोध पर एक्ट्रेस द्वारा की गई टिप्पणी के लिए पूरे भारत में दर्ज सभी प्राथमिकी को मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में स्थानांतरित करने का निर्देश देने की मांग की गई। उन्होंने छह महीने की अवधि में चार्जशीट दाखिल करने के साथ-साथ दो साल की अवधि के भीतर त्वरित सुनवाई की भी मांग की।अधिवक्ता ने कहा कि कंगना रनौत का इस तरह टिप्पणी करना और सोशल मीडिया पोस्ट करना न केवल अपमानजनक और ईशनिंदा था। इसके साथ ही वकील ने दावा किया कि अभिनेत्री का इरादा दंगा करने का भी था।दायर याचिका में कहा गया है कि अदालत को केंद्रीय गृह मंत्रालय और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण को कंगना रनौत के सोशल मीडिया पोस्ट पर प्रतिबंध और निवारक उपाय करने का निर्देश देना आवश्यक है।

महान!(62311)

संबंधित आलेख

रैट पिंग शी गुई नेटवर्कबिज़नेस कार्ड

पेशा:प्रोग्रामर,डिजाइनर

वर्तमान निवास:फ़ुज़ियान लोंगयान वुपिंग काउंटी

स्टूडियो:समूह

Email:039263453@641.com

वेबमास्टर अनुशंसित